दीर्घ ज्वार कब आता है? Dirgh jwar kab aata hai?

सवाल: दीर्घ ज्वार कब आता है?

उच्च ज्वार का मतलब होता है, समुद्र में बड़ी-बड़ी लहरें उत्पन्न होना दीर्घ ज्वार कहा जाता है, यह स्थिति तब पैदा होती है, जब सूर्य चंद्रमा और पृथ्वी जब ब्रह्मांड में एक ही सीधी लाइन में आ जाते हैं, तो यही स्थिति उत्पन्न होती है। यह स्थिति पूर्णिमा और अमावस्या के दिन होती है। इस स्थिति में सम्मिलित आकर्षण बल पृथ्वी पर लगता है, इसके कारण आता है, सम्मिलित आकर्षण मन का मतलब है। चंद्रमा और सूर्य दोनों का आकर्षण बल पृथ्वी के समुंद्रो पर लगता है, तो बड़े-बड़े ज्वार उत्पन्न होते हैं, उन्हें दीर्घ ज्वार कहा जाता है।

0 Komentar

Post a Comment

चलो बातचीत शुरू करते हैं 📚

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Latest Post

Recent Posts Widget