वायुमंडल के संगठन का वर्णन कीजिए? Vayumandal ke sangathan ka varnan kijiye

वायुमंडल के संगठन का वर्णन कीजिए?


सवाल: वायुमंडल के संगठन का वर्णन कीजिए?

वायुमंडल का संगठन निम्नलिखित परतों में विभाजित है:

1. क्षोभमंडल (Troposphere): यह वायुमंडल की सबसे निचली परत है जो पृथ्वी की सतह से लगभग 8 से 15 किलोमीटर ऊपर तक फैली हुई है। यहाँ मौसम संबंधी सभी घटनाएँ होती हैं और यहाँ वायुमंडल का अधिकांश जलवाष्प और धूल कण मौजूद होते हैं¹²³।


2. समतापमंडल (Stratosphere): क्षोभमंडल के ऊपर स्थित, यह परत लगभग 50 किलोमीटर ऊपर तक फैली हुई है। इस परत में ओजोन परत स्थित है, जो सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणों को अवशोषित करती है¹²³।


3. मध्यमंडल (Mesosphere): समतापमंडल के ऊपर स्थित, यह परत लगभग 85 किलोमीटर ऊपर तक फैली हुई है। यहाँ तापमान बहुत कम होता है और यह उल्कापिंडों के जलने का स्थान भी है।


4. आयनमंडल (Ionosphere): यह परत मध्यमंडल के ऊपर स्थित है और यह लगभग 600 किलोमीटर ऊपर तक फैली हुई है। इस परत में आयनीकृत कण होते हैं जो रेडियो संचार में महत्वपूर्ण होते हैं।


5. बाह्यमंडल (Exosphere): यह वायुमंडल की सबसे ऊपरी परत है जो आयनमंडल के ऊपर स्थित है और अंतरिक्ष में फैली हुई है। यहाँ गैसों की सांद्रता बहुत कम होती है।


इन परतों के अलावा, विभिन्न परतों के बीच की सीमाओं को भी विशेष नाम दिए गए हैं, जैसे क्षोभमंडल और समतापमंडल के बीच की सीमा को 'क्षोभसीमा' और समतापमंडल और मध्यमंडल के बीच की सीमा को 'समतापसीमा' कहा जाता है¹²³। वायुमंडल की ये परतें पृथ्वी के जीवन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं और इनका संरक्षण आवश्यक है।

Rjwala Rjwala is your freely Ai Social Learning Platform. here our team solve your academic problems daily.

0 Komentar

Post a Comment

let's start discussion

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Latest Post